Uncategorized

समाज सेवा व ग्रामवासियों का विकास ही मेरी पहली प्राथमिकता – राम जी सोनकर

प्रधान प्रत्याशी राम जी सोनकर ने किताब पर बटन दबाने के लिए ग्राम वासियों से किया आग्रह

ऊंचाहार, रायबरेली । प्रधानी चुनाव 2021 का बिगुल बजते ही प्रत्याशियों ने जमकर की दावेदारी वहीं कुछ प्रत्याशियों के हाथ लगी मायूसी तो कुछ प्रत्याशियों के हाथ लगी खुशी हालांकि कुछ प्रत्याशियों ने नामांकन के दिन अपनी वापसी भी ले ली वहीं आरक्षण बदलने से लगभग दो-तीन महीने से तैयारी कर रहे प्रधानों को भी मायूसी हाथ लगी है वही जब एक बार फिर हाई कोर्ट से फैसला आने के बाद प्रधानों को जब मालूम हुआ कि आरक्षण सीट पर बदलाव होगा तो प्रधानों ने भी यह सोच कर बैठ गए कि इस बार का क्या आरक्षण होगा लेकिन जैसे ही आरक्षण सूची आई तो प्रधानों के चेहरे पर खुशी देखने को मिली। वही तीन व 4 अप्रैल को नामांकन प्रकिया हुई व 7 अप्रैल को पर्चा भरने का कार्य किया गया। इस दौरान काफी गड़बड़ी भी देखने को मिली लेकिन आज हम शिक्षित होना और तेजतर्रार प्रधान प्रत्याशी राम जी सोनकर जिन का चुनाव चिन्ह किताब है उनकी बात करने जा रहा हूं, जिन्होंने इस बार जितना है गांव का विकास कराना मेरी पहली प्राथमिकता। वहीं उन्होंने मीडिया से रूबरू होते यह भी का वर्तमान प्रधान ने 5 सालों में जो कार्य नहीं कराया वह कार्य मैं प्रधान बनने के बाद अवश्य कर आऊंगा, हालांकि जब ग्राम वासियों के बीच जाकर कार्यक्षेत्र की बात की गई तो सभी ने वर्तमान प्रधान की कार्य से असंतुष्ट होकर उनसे खेद जताया और कहा कि जिस प्रकार प्रधानमंत्री जी के द्वारा योजनाएं ग्राम वासियों को दी जाती है वह योजनाएं हम लोग को मुहैया नहीं कराई गई। इस बार हम लोगों ने ठाना है प्रधान प्रत्यासी रामजी सोनकर को भारी मतों से विजई बनाना है। जब इस बारे में राम जी सोनकर से बात किया गया तो उन्होंने बताया यह मेरा पहला प्रधान पद का कार्य होगा अगर मैं इस प्रधान पद में जीत हासिल करता हूं तो मेरी पहली प्राथमिकता गांव का विकास कराना है। वही राम जी सोनकर दिन रात एक कर कर घर-घर जाकर वोट मांग रहे हैं और बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद ले रहे हैं और लोगों से आग्रह भी कर रहे हैं किताब पर जो कि इनका चुनाव चिन्ह उस पर मोहर लगाकर आप हमें विजई बनाएं ताकि आपके क्षेत्र का मैं विकास कर सकूं। हालाकी राम जी सोनकर एक शिक्षित अध्यापक हैं जो कि रायबरेली के मदर टेरेसा इंटर कॉलेज में बच्चों को पढ़ाते हैं और ज्ञान भी देते हैं। सबसे बड़ी बात जब एक शिक्षक प्रधान पद पर खरा उतरेगा तो गांव की जनता काफी उनसे विश्वास रखेगी क्योंकि 5 सालों में प्रधान जनता को लुभाने का कार्य करते हैं और बड़े-बड़े दावे करते हैं लेकिन वह सब दावे फेल नजर आते हैं लेकिन इन्हीं बातों को नकारते हुए राम जी सोनकर ने खुले शब्दों में यह भी कहा कि अगर मैं इस बार प्रधान पद का चुनाव जीत गया तो गांव का नक्शा ही बदल कर रख दूंगा और जो कार्य क्षेत्र में पूर्व प्रधान के द्वारा छूट गए हैं उन सभी कार्यों को मैं पूरा कर आऊंगा । हालांकि इस बार ऊंचाहार के ग्राम सभा निगोहां में अनारक्षित सीट आने से पांच प्रत्याशी जमकर दावेदारी ठोंक रहे हैं। ऊंचाहार तहसील के ग्राम सभा निगोहा मैं पांच प्रत्याशी और छोटी सी ग्रामसभा जिसमें लगभग 1500 वोटर है जिसमें 5 प्रत्याशी अपनी दावेदारी को दिखाने के लिए गांव की जनता के समक्ष प्रस्तुत हुए हैं। फिलहाल देखना अब यह होगा कि गांव की जनता किसे चुनती है क्योंकि प्रत्याशी बहुत होते हैं और गांव की जनता को लुभाने का कार्य करते हैं और यह भी कहते हैं कि 5 सालों में गांव का नक्शा बदल देंगे लेकिन इन 5 सालों में ग्राम प्रधान के द्वारा कोई भी कार्य नहीं किया जाता है । फिलहाल देखने वाली बात यह होगी कि गांव की जनता किसके सिर ग्राम प्रधान की जीत का ताज रखती है ।

Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button